SEO फ्रेंडली आर्टिकल कैसे लिखे?

Google Webmaster Guidelines वाले आर्टिकल में मैंने गूगल के सभी दिशानिर्देश के बारे में बताया जिसे हर ब्लॉगर को फ़ॉलो करना चाहिए. चलिए अब हम बात करते हैं कि एक एसईओ फ्रेंडली आर्टिकल कैसे लिखते हैं यानी ऐसा आर्टिकल कैसे लिखें जिसे गूगल आसानी से समझ सके.

गूगल एक सर्च इंजन है और गूगल के लिए आर्टिकल लिखना या सर्च इंजन के लिए आर्टिकल लिखना एक ही बात है. इसलिए आर्टिकल लिखते समय उसका सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन रूल्स फॉलो करना जरूरी है.

आप एसईओ फ्रेंडली आर्टिकल लिख रहे हो, इसका मतलब यह है कि आप गूगल को बता रहे हो की आपका आर्टिकल किस टॉपिक पर लिखा गया है.

यहां कुछ महत्वपूर्ण गाइडलाइन दिए गए हैं जिससे आप गूगल को बता सकते हैं कि आपने आखिर लिखा क्या है. यदि आपका पेज गूगल के समझने लायक है तो वह इसे जरूर रैंक करेगा.

इन बारह पॉइंट्स को अगर आप समझ पाते है तो आप गूगल की गाइडलाइन के हिसाब से सही आर्टिकल लिख पाएंगे.

1. कीवर्ड रिसर्च करें

अब आपके में में एक सवाल आया होगा कि यार यह कीवर्ड क्या है? इसे समझना ज्यादा बड़ी बात नहीं है. जो भी सेन्टेंस आप गूगल में सर्च करते है वहीं आपका कीवर्ड होता है. जैसे कि आप गूगल में सर्च करते है कि “सर्च इंजन क्या है?” तो यही आपका कीवर्ड है.

अब दूसरी बात यह है कि, आपके आर्टिकल के लिए कौन सा कीवर्ड सही रहेगा. इसके लिए आपको टूल्स का इस्तेमाल करना होगा.

मार्केट में बहुत सारे फ्री और प्रीमियम टूल्स मौजूद है. जिसकी मदद से आप कीवर्ड रिसर्च कर सकते है. जैसे कि, गूगल का एक फ्री टूल है जिसका नाम गूगल कीवर्ड प्लानर है.

कीवर्ड चुनते वक्त आपको ऐसा कीवर्ड चुनना है जिसमे कॉम्पिटिशन कम हो. ऐसे कीवर्ड को आप जल्दी से रैंक कर सकते है.

आप चाहे तो अपने हिसाब से भी कीवर्ड को इस्तेमाल कर सकते है. आपको बस कीवर्ड को चुनते वक्त कॉम्पिटिशन को चेक करना है.

सबसे जरूरी बात आप ज्यादा से ज्यादा लोंग टेल कीवर्ड का इस्तेमाल करे. इसकी मदद से आप शॉर्ट टेल कीवर्ड को भी आसानी से रैंक कर सके है. यदि आप कम कंपीटिशन वाले कीवर्ड पर पोस्ट लिखते हैं तो गूगल आपके पोस्ट को ध्यान से चेक करेगा और रैंक करेगा.

2. कीवर्ड को टाइटल में रखें

आपका आर्टिकल जिस टॉपिक पर है उसके हिसाब से आपको टाइटल को चुनना है. साथ ही एक बात का ध्यान रखे की, को आपका टाइटल में आपके आर्टिकल का कीवर्ड होना चाहिए.

आप ऐसी गलती कभी मत करना की, आपका फोकस कीवर्ड है “सर्च इंजिन क्या है” और आप कुछ और लिख रहे है. आपको अपने टाइटल में भी इसको लिखना होगा.

3. अपने पहले पैराग्राफ में कीवर्ड का इस्तेमाल करना

इस बात को हमेशा याद रखे की आप जब भी आर्टिकल लिखे तो पहले पैराग्राफ में केवर्ड का इस्तेमाल जरूर करे.

यह एसईओ के लिए मददगार साबित होगा. ध्यान रखे की आपको कीवर्ड को नेचुरल तरीके से लिखना है. कीवर्ड को जान बूझकर बार बार न लिखे. यह गूगल कि गाइडलाइन के खिलाफ है.

4. इमेज में Alt Tag का इस्तेमाल करे

कोई भी सर्च इंजन इमेज को पढ़ नहीं पाता. इसीलिए आपको एल्ट टैग डालकर उसे बताना पड़ता है कि, आपका इमेज किस चीज से रिलेटेड है.

अगर आपका इमेज फूड का है तो आपको एल्ट में फूड लिखना होगा. आप चाहे तो इसके लिए एसईओ फ्रेंडली इमेज प्लगइन का इस्तेमाल कर सकते है.

5. हेडिंग और सब-हेडिंग का इस्तेमाल करें

हेडिंग और सब-हेडिंग बहुत जरूरी है. इनकी मदद से विजिटर्स को यह पता चलता है कि अंदर क्या है. याद रहे कि हेडिंग और सब-हेडिंग को डालते वक्त आपको उनमें कीवर्ड का भी इस्तेमाल करना है.

6. इंपॉर्टेंट और रिलेटेड कीवर्ड को बोल्ड करना

इसमें आपको बस जो आपके जरूरी और रिलेटेड कीवर्ड को बोल्ड करना है. यह आप पोस्ट खतम होने के बाद भी आराम से कर सकते है.

7. एक से दो इटालिक कीवर्ड रखना

इसमें आपको जो जरूरी इंफॉर्मेशन है उसे आपको इटालिक रखना है. आप अपने जरूरी कीवर्ड को भी इटालिक कर सकते है. एक बात हमेशा याद रखे की एक कीवर्ड बार बार ना लिखे. इससे यूजर्स को भी पढ़ने में बोरिंग लगेगा.

8. आउट बाउंड लिंक एड करें

आर्टिकल लिखते वक्त आपके आर्टिकल से रिलेटेड जो दूसरी वेबसाइट का आर्टिकल है उसकी लिंक अपने आर्टिकल में एड करे. इससे आपके आर्टिकल को रैंक होने में काफी मदद मिलेगी.

आप चाहे तो अपने फेसबुक प्रोफाइल की लिंक भी एड कर सकते है. क्युकी यह एक हाई क्वालिटी लिंक है. गूगल इसे बहुत जरूरी मानता है.

9. इंटरनल लिंक्स एड करना

आप अपने आर्टिकल में दूसरे आर्टिकल्स का लिंक एड करिए. इससे आपके एक आर्टिकल के विजिटर्स दूसरे आर्टिकल्स पढ़ पाएंगे. इसके आपका बाउंस रेट अच्छा रहेगा.

आपके वेबसाइट कि एंगेजमेंट बढ़ेगी और इससे आपको कम विजिटर्स में ज्यादा पेज व्यूज मिलेंगे.

10. हाई क्वालिटी कंटेंट लिखना

आप आर्टिकल का कितना भी एसईओ कीजिए अगर आप क्वालिटी कंटेंट नहीं लिखते है तो यूजर आपकी वेबसाइट पर नहीं रुकेगा.

क्वालिटी कंटेंट से मेरा मतलब है कि आपका आर्टिकल हमेशा 700 वर्ड्स से ऊपर का होना चाहिए. जिसमे सभी इंफॉर्मेशन अच्छी से बताई गई हो.

11. ब्लॉग यूआरएल में कीवर्ड रखना

आर्टिकल की ब्लॉग यूआरएल भी बहुत इंपॉर्टेंट है. हमेशा याद रखिए की आपका जो फोकस कीवर्ड है वह आपको अपने ब्लॉग यूआरएल में एड करना है. इससे एसईओ में मदद होती है और आर्टिकल रैंक होने में मदद होती है.

12. मेटा डिस्क्रिप्शन में कीवर्ड का इस्तेमाल करना

गूगल में आर्टिकल रैंक करने के लिए यह बहुत जरूरी है. डिस्क्रिप्शन में आपको उन कीवर्ड का इस्तेमाल करना है जो आपके पोस्ट में हेडिंग, टाइटल और सब-हेडिंग में इस्तेमाल किए है. यह गूगल को बताता है कि आपकी पोस्ट किस बारे में है.

अंतिम शब्द

केवल एक आर्टिकल लिख देना सबकूछ नहीं होता, इसके साथ आपको उस आर्टिकल को गूगल फ़्रेंड्ली या SEO फ़्रेंड्ली भी बनाना होता है. यहाँ आज के इस आर्टिकल में हमने जाना की गूगल के लिए आर्टिकल कैसे लिखें.

आपके लिए चीजों को आसान करने के लिए मैंने सभी स्टेप्स को कैटेगॉरी के हिसाब से बताया हुआ है, जिसका आप आसानी से अपने ब्लॉग पर पालन कर सकते हैं. इसमें आपको बेसिक से लेकर advanced टिप्स से रूबरू कराया गया है.

अगर आपको मेरी यह आर्टिकल गूगल के लिए आर्टिकल कैसे लिखे पसंद आई और आपको कुछ नयी जानकारी पढने को मिली हो तब आप इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते है. अगर आपका कुछ सुझाव है तो निचे कमेंट करिए और मेरे साथ YouTube और Instagram पे जुड़िये.

Chandan is a proud geek and professional blogger for the last 10 years. He is one of the best Hindi bloggers of Indian who teaches Digital Marking through blogs and YouTube videos.

Leave a Comment