डोमेन नाम किसे कहते हैं?

डोमेन नाम क्या होता है? यदि आप एक ब्लॉग या वेबसाइट बनाने की सोच रहे हैं, तो सबसे पहले आपको डोमेन के बारे में जानने की आवश्यकता है. तो, इसके लिए आपको यह समझना होगा कि एक डोमेन क्या है.

जब भी हम इंटरनेट पर ऑनलाइन किसी वेबसाइट पर जाते हैं, तो हमारा डोमेन के साथ टकराव होता है.  वास्तव में, डोमेन के माध्यम से, हम इंटरनेट पर विभिन्न वेबसाइटों को ब्राउज कर सकते हैं.

जिस तरह हमारा नाम होता है, उसी तरह इंटरनेट की दुनिया में भी अन्य वेबसाइटें अपने Domain Name (डोमेन नाम ) से मिल सकती हैं.

उदाहरण के लिए, यदि आप मेरी हिंदी वेबसाइट पर आना चाहते हैं, जो इंटरनेट पर एक्टिव है, तो आपको मेरी वेबसाइट का डोमेन “hindime.net” का उपयोग करके मेरी साइट पर भी आना होगा.

सीधे शब्दों में कहें तो किसी वेबसाइट का नाम, पहचान और पता सभी डोमेन Name हैं. और, एक डोमेन नाम के बिना, इन्टरनेट पर कोइ भी वेबसाइट नहीं है.

तो, डोमेन Name किसे कहते हैं, डोमेन Name कितने प्रकार के होते हैं, डोमेन Name की आवश्यकता क्यों है. इन सभी के बारे में आज मैं इस पोस्ट में बताने वाला हूं.

डोमेन नाम क्या है?

Domain Name या DNS (Domain Name System) एक ऐसा नामकरण है जिसके द्वारा हम इंटरनेट की इस विशाल दुनिया में किसी भी वेबसाइट की पहचान कर सकते हैं. इंटरनेट पर सभी प्रकार की वेबसाइटें IP Address से जुड़ी होती हैं.

और, यह IP (Internet Protocol Address) एक संख्यात्मक पता है जो आपके द्वारा उपयोग किए जा रहे इन्टरनेट ब्राउज़र को बताता है कि वेबसाइट इंटरनेट पर किस सर्वर और लोकेशन पर Host की गई है.

अब, जब भी हम अपने वेब ब्राउज़र में किसी वेबसाइट का डोमेन नाम लिखकर सर्च करते हैं, तो वह डोमेन नाम वेबसाइट के सर्वर के वास्तविक IP Address की ओर इशारा करता है.

नतीजतन, हम उस वेबसाइट को देख और उपयोग कर सकते हैं जो हमारे वेब ब्राउज़र में खोजे गए डोमेन नाम से जुड़ी है. आप IP Address का उपयोग करके भी उस वेबसाइट पर जा सकते हैं.

उदाहरण के लिए: Google.com वेबसाइट का डोमेन नाम “Google.com” है और इसका IP Address “172.217.168.238” है. आप डोमेन नाम और आईपी पते दोनों का उपयोग करके Google की वेबसाइट पर जा सकते हैं.

डोमेन नाम प्रणाली कैसे काम करता है?

प्रत्येक वेबसाइट को Web Server पर होस्ट या स्टोर किया जाता है. और, एक Domain उस Website के सर्वर के IP Address या संख्यात्मक पते की ओर इशारा करना शुरू कर देता है.

इसमें, जब भी हम अपने वेब ब्राउजर में वेबसाइट का Domain Name टाइप करते हैं और सर्च करते हैं, तो वेबसाइट डोमेन नाम के जरिए अपने सर्वर के आईपी एड्रेस की ओर इशारा करती है. और परिणामस्वरूप, वेब ब्राउज़र में, डोमेन द्वारा खोजी गई वेबसाइट मिल सकती है.

अंत में, एक आईपी पते की तुलना में इंटरनेट पर किसी भी वेबसाइट को खोजने के लिए एक Domain Name एक बहुत आसान और सरल नाम है. और, इस नाम का उपयोग कुछ वाक्यों या शब्दों को याद रखने में आसान बनाने के लिए किया जाता है.

डोमेन नाम के प्रकार

डोमेन नाम कई प्रकार के होते हैं.  नीचे मैं आपको कुछ सबसे महत्वपूर्ण डोमेन प्रकारों के बारे में बताऊंगा.  इस तरह, जब भी आप अपनी वेबसाइट के लिए एक डोमेन खरीदने के बारे में सोचते हैं, तो आप सही डोमेन चुन सकते हैं.

1. TLD – Top Level Domain

Top Level Domain, Highest Value Domain Extensions के साथ आते है. ये Domain Name सबसे अधिक उपयोग किए जाते हैं. यह एक Full Domain Name का अंतिम भाग है.

उदाहरण के लिए: यदि मैं अपने ब्लॉग के डोमेन नाम के बारे में बात करता हूं, तो hindime.net मेरा डोमेन नाम और डॉट (.) के बाद “net” शब्द मेरा Top Level Domain Extension है.

किसी वेबसाइट या ब्लॉग पर, यदि आप इन Top level domain का उपयोग करते हैं, तो आपकी वेबसाइट की प्रतिष्ठा Visitors और गूगल दोनों की नज़र में अच्छी होगी. और, इससे आपको फायदा होगा.

TLD या Top level domains को SEO Friendly domain कहा जाता है.  क्योंकि, गूगल सर्च इंजन इस केटेगरी के Domain Extensions के साथ वेबसाइट को बहुत अधिक महत्व देता है.

इसलिए, यदि आप एक वेबसाइट या ब्लॉग बनाने की सोच रहे हैं, तो इस प्रकार के Top level domain का उपयोग करना बेहतर और लाभदायक होगा.

TLD या Top Level Domain Extensions का उदाहरण

  1.  .com (Company)
  2. .org (Organisation)
  3. .Net (Network)
  4. .gov (Government)
  5. .edu (Education)
  6. .biz (Business)
  7. .info (Information)
LevelDescription
aeroAirlines and Aerospace Companies
bizBusinesses
comCommercial Organizations
coopCooperative Business Organization
eduEducational Institution
govGovernment Institutions
infoInformation Service Provider
intInternational Organization
milMilitary Groups
muesumMuesums and Other Non Profit Organizations
namePersonal Name
netNetwork Support Centers
orgNon Profit Orgainizations
proProfessional Individual Organinzation

आप इस प्रकार का डोमेन एक्सटेंशन किसी भी Domain Registrar Website से कुछ पैसे लेकर खरीद सकते हैं.

2. CcTLD – Country Code Top Level Domain

यदि आपकी वेबसाइट या ब्लॉग किसी विशेष देश के लिए Targeted है, तो आप इन प्रकार के CcTLD Domain Extension का उपयोग कर सकते हैं.  इस प्रकार के डोमेन एक्सटेंशन का नाम देश के दो अक्षर ISO कोड के नाम पर रखा गया है.

Country Code Top Level Domain के कुछ उदाहरण

  1.  .US (United States
  2. .In (India)
  3. .Bd (Bangladesh)
  4. .Fr (France)
  5. .Cn (China)
  6. .Id (Indonesia)

डोमेन नाम की आवश्यकता

डोमेन एक वेबसाइट का पता है जो आप अपने ब्राउज़र के URL Bar में लिखते हैं, जो .com, .net, .in, .id, .org आदि से समाप्त होता है, जिसे डोमेन नाम कहा जाता है. डोमेन नाम शॉर्टकट की  तरह होते हैं जो  हमें आपकी वेबसाइट को होस्ट करने वाले सर्वर पर Point करते हैं.

एक डोमेन नाम के बिना, लोग आपकी वेबसाइट तक पहुंचने और खोलने के लिए आपके website की IP Address पर जाना होगा. लेकिन, क्या आपके और मेरे लिए सिर्फ कुछ ही नंबरों के जरिए इतनी सारी वेबसाइटों के नाम याद रखना संभव है? आम लोगों के लिए यह कभी संभव नहीं है.

IP Address द्वारा किसी वेबसाइट का नाम याद रखने की इस जटिल प्रक्रिया को सरल बनाने के लिए, शब्दों और वाक्यों से युक्त एक “Domain Name” का उपयोग किया जाता है. इससे हम किसी भी वेबसाइट का नाम आसानी से याद रख सकते हैं.

डोमेन नाम के भाग

Domain Name एक ऐसा नाम होता है जिसे लोगों के द्वारा पढ़ा जा सकता है. डोमेन नाम के तीन भाग होते हैं. Domain का पहला भाग Subdomain होता है जो ऑप्शनल होता है. बहुत सी वेबसाइट का Domain Name बिना Subdomain का होता है. Subdomain कोई भी Letter या WWW हो सकता है. इसे यूनिक होना जरूरी नहीं है. 

Domain का दूसरा भाग Unique Name होता है, जो वेबसाइट या ब्लॉग या वेबसाइट का Unique Name होता है. जैसा मेरे Website का नाम Hindi me jaankari है तो मैने अपने Website का नाम Hindime चुना. सबसे कम डिजिट का Domain Name चुनना बेहतर माना जाता है. मान लीजिए कि आप अपने वेबसाइट के लिए Domain Name चुन रहे हैं लेकिन वह उपलब्ध नहीं है तो आप उसका Extension बदलकर भी खरीद सकते हैं, जैसे मैं अपने Website के लिए hindime.com खरीदना चाहता था लेकिन मुझे hindime.net खरीदना पड़ा.

Domain Name का तीसरा भाग Domain Name Extension होता है. यदि आप Top Level Domain Name Extension खरीदते हैं तो आपको अधिक वैल्यू दिया जाता है. दुनिया भर में .Com Extension सबसे अधिक उपयोग किया जाता है.

डोमेन कहाँ से खरीदें?

यदि आप अपने खुद के व्यवसाय या Personal use के लिए अपना खुद का ब्लॉग या वेबसाइट बनाने की सोच रहे हैं, तो आपको एक Top level domain खरीदना होगा.

आप लगभग 500 रुपये से 1500 रुपये खर्च करके एक डोमेन नाम प्राप्त कर सकते हैं. आपको एक लिमिटिड समय के लिए Domain Name दिया जाता है. आप चाहें तो एक बार में 2, 3, 4 या 5 साल के लिए डोमेन खरीद सकते हैं. समय पूरा होने के बाद आपको इसे Renew करवाना होगा.

एक डोमेन नाम खरीदने के लिए, आपको इंटरनेट पर “Domain Name Service Providers” के वेबसाइट पर जाने की आवश्यकता है. और, वहां आप अपना स्वयं का Account बनाकर एक डोमेन नाम सर्च सकते हैं.

इंटरनेट पर, कुछ सर्वश्रेष्ठ डोमेन नाम रजिस्ट्रेशन सर्विस हैं:

  • https://www.bigrock.in
  • https://www.namecheap.com
  • https://www.crazydomains.in
  • https://godaddy.com
  • https://www.hostgator.in

इनवर्स डोमेन क्या होता है?

इन्वर्स डोमिन (Inverse Domain) का इस्तेमाल किसी भी एड्रेस को नाम में मैप करने के लिए किया जाता है. यह तब हो सकता है, उदाहरण के लिए, जब कोई सर्वर किसी एक client से रिक्वेस्ट प्राप्त करता है कोई कार्य करने के लिए. इस प्रकार की क्वेरी (query) को इन्वर्स या पॉइंटर (PTR) क्वेरी कहा जाता है.

एक पॉइंटर क्वेरी को हैंडल करने के लिए, इन्वर्स डोमेन को domain name space में add कर दिया जाता है first-level node के साथ जिसे की Arpa (ऐतिहासिक कारणों से) कहा जाता है. दूसरा स्तर एक single node भी है जिसका नाम in-addr (व्युत्क्रम पता के लिए) है. बाकी डोमेन “IP address” को defined करता है.

डोमेन का मतलब क्या होता है?

Domain Name या DNS (Domain Naming System) एक ऐसा नामकरण है जिससे हम किसी website को Internet में identify कर सकते हैं.

डोमेन नाम कैसे बनाये?

डोमेन नाम बनाने के लिए आपको नीचे दिए गए स्टेप्स का पालन करना होगा .

Step 1: विजिट करें वेबसाइट (GoDaddy) और सर्च करें डोमेन
Step 2: ऐड करें उस डोमेन को Cart को और Continue पर क्लिक करें .
Step 3: प्रोसीड करें Checkout की ओर.
Step 4: Create करें Account.
Step 5: फिर भरें Billing Information Form जरुरत के हिसाब से .
Step 6: सेलेक्ट करें Payment Method.

DNS का फुल फॉर्म क्या है?

DNS का फुल फॉर्म है Domain Name System.

डोमेन नाम की परिभाषा क्या है?

Domain Name असल में एक एड्रेस होती है आपकी वेबसाइट या ब्लॉग की जिसे की यूज़र्स टाइप करते हैं ब्राउज़र के यूआरएल बार में जिससे की वो उस वेबसाइट तक पहुँच सकें.

डोमेन नाम की आवश्यकता क्यों होती है?

डोमेन नाम की आवस्यकता इसलिए होती है क्योंकि ये आपके वेबसाइट या ब्लॉग को एक अलग पहचान प्रदान करती है. आपके ब्लॉग को ज्यादा प्रोफेशनल बनाती है.

अंतिम शब्द

यदि आप एक प्रोफेशनल तोर पर ब्लॉगिंग करना चाहते हैं, तब आपके पास या यूँ कहे की आपके ब्लॉग की एक ऐसी डोमेन नाम होनी चहिये जो की सुनने में ब्रांडेबल लगे. यहाँ इस आर्टिकल डोमेन नेम क्या है में आपको डोमेन के विषय में जानकारी प्रदान करी की गयी है. जहाँ एक ip address को याद रखने में दिक्कत होती है वहीँ डोमेन नाम को आसानी से याद रखा जा सकता है.

चाहे आपका ब्लॉग ब्लॉगर प्लेटफार्म पर है या फिर वर्डप्रेस पर हो दोनों ही प्लेटफार्म में डोमेन नाम की जरुरत बहुत ज्यादा है. आपके ब्लॉग को एक अलग पहचान दिलाता है एक बढ़िया डोमेन नाम.

अगर आपको मेरी यह आर्टिकल डोमेन नाम क्या है पसंद आई और आपको कुछ नयी जानकारी पढने को मिली हो तब आप इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते है. अगर आपका कुछ सुझाव है तो निचे कमेंट करिए और मेरे साथ YouTube और Instagram पे जुड़िये.

Chandan is a proud geek and professional blogger for the last 10 years. He is one of the best Hindi bloggers of Indian who teaches Digital Marking through blogs and YouTube videos.

1 thought on “डोमेन नाम किसे कहते हैं?”

  1. nice sir apke post padhkar bahut acche jankari mile maine apke kuch or post padha bahut hi useful hai

    thanks

    Reply

Leave a Comment