SSL (Secure Socket Layer) क्या है?

एसएसएल सर्टिफिकेट एक डिजिटल सर्टिफिकेट है, जिसका पूरा नाम है Secure Socket Layer. इसे आप किसी भी वेबसाइट के लिए या किसी व्यवसाय के लिए ख़रीद सकते हैं. यह आपके वेब ब्राउज़र और आपके वेब सर्वर के बीच एक सुरक्षित संबंध बनाता है. इसमें आपके बिजनेस का विवरण एक क्रिप्टोग्राफ़िक कुंजी में संलग्न होती है.

इस प्रमाणपत्र में आपका नाम, सीरियल नंबर, समाप्ति तिथि, आपकी सार्वजनिक कुंजी और प्रमाणपत्र जारी करने वाले प्राधिकारी द्वारा प्रदान किया गया एक डिजिटल हस्ताक्षर शामिल होता है. किसी वेबसाइट पर एसएसएल सर्टिफिकेट होने का मतलब है कि आप इस साइट पर भरोसा कर सकते हैं, कोई भी हैकर इसकी जानकारी नहीं देख सकता है. इस एंक्रिप्शन तकनीक का निर्माण 1990 में नेटस्केप के द्वारा किया गया.

SSL कैसे काम करता है?

एसएसएल प्रमाणपत्र आपकी सभी जानकारी को एन्क्रिप्ट करता है और इसे वेब सर्वर को भेजता है, और वेब सर्वर भी ऐसा ही करता है. 

एसएसएल प्रमाणपत्र में दो संयोजन होते हैं, एक public key और एक Private key. Public key का उपयोग भेजे जाने वाले डेटा को एन्क्रिप्ट करने के लिए किया जाता है, जबकि Private key का उपयोग डेटा को एक फॉर्मेट में डिक्रिप्ट करने के लिए किया जाता है जिसे डेटा प्राप्तकर्ता द्वारा पुन: उपयोग किया जा सकता है.

मान लीजिए, आप एक दूरदराज के गाँव में अपने किसी दोस्त को पैसे भेजना चाहते हैं, वहाँ मोबाइल बैंकिंग की कोई सुविधा या इंटरनेट नहीं है. अगर आप वहां पैसा भेजना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको पैसे को किसी के हाथ में सौंपना होगा. अब यदि आप किसी को पैसे के साथ अपने मित्र के पते पर पहुंचने के लिए कहते हैं, तो वह कुछ दूरी पर चला जाता है और इसी तरह पैसे को किसी और को स्थानांतरित कर देता है.

यहां आप सोच सकते हैं कि आपका पैसा कितना जोखिम में है. लेकिन अगर आप पैसे को एक बॉक्स में बंद करते हैं और इसे भेजते हैं, तो चाहे इसे किसी को भी सौंप दें, इसके चोरी होने का कोई डर नहीं होगा – क्योंकि ताला केवल आपके दोस्त की चाबी से खुलेगा.

तो यही काम एसएसएल सर्टिफिकेट करता है. यह आपके द्वारा दर्ज की गई सभी जानकारी को सर्वर तक सुरक्षित रूप से पहुंचाता है. SSL का उपयोग करके सभी वेबसाइटों के URL की शुरुआत में HTTPS लगाया जाता है. HTTPS SSL और HTTP का मिश्रित संस्करण है. HTTPS वेबसाइट का मतलब है कि उस वेबसाइट के पास SSL Certificate है और वह सुरक्षित है.

SSL का उपयोग कहां किया जाता है?

SSL मुख्य रूप से आपके वेब ब्राउज़र या मेल क्लाइंट या मेल सर्वर और वेब सर्वर के बीच गोपनीय और सुरक्षित कनेक्शन बनाने के लिए उपयोग किया जाता है. एसएसएल प्रमाणपत्र किसी भी Website की सुरक्षा का आश्वासन देता है. इसका मतलब यह है कि आपके द्वारा भेजी जाने वाली कोई भी जानकारी पूरी तरह से सुरक्षित रूप से वेबसाइट तक पहुंच जाएगी, और कोई भी हैकर या क्रैकर उस जानकारी को बीच में हैक नहीं कर पाएगा.

आम तौर पर, ऑनलाइन बैंकिंग वेबसाइट, सोशल नेटवर्क वेबसाइट, ईमेल सेवा प्रदाता और किसी भी वेबसाइट के व्यवस्थापक जो अपने यूजर की सभी जानकारी को सुरक्षित करना चाहते हैं, एसएसएल प्रमाणपत्र का उपयोग कर सकते हैं. यदि आपके पास आपकी साइट पर यह प्रमाण पत्र है, तो आपके कस्टमर या आपके यूजर को आपके वेबसाइट के यूआरएल में HTTPS लिखा दिखेगा, जिससे वे समझ सकेंगे कि, आपकी साइट पर भरोसा किया जा सकता है.

Google, YouTube, Yahoo, Facebook, Twitter, WordPress इत्यादि सहित सभी ऑनलाइन बैंकिंग वेबसाइटें SSL का उपयोग करती हैं क्योंकि वे प्रत्येक संवेदनशील जानकारी को सुरक्षित रखना चाहती है.

क्या SSL आपकी वेबसाइट के लिए आवश्यक है?

वास्तव में इस प्रश्न का उत्तर कुछ बातों पर निर्भर करता है, यदि आप एक ऐसी वेबसाइट चाहते हैं, जहां लोग अपनी अत्यधिक संवेदनशील और व्यक्तिगत जानकारी शेयर करते हैं, तो आपकी वेबसाइट पर SSL प्रमाणपत्र होना जरुरी है. क्योंकि इस प्रमाणपत्र के होने का न केवल यह मतलब है कि आपके Users की सभी जानकारी सुरक्षित होगी, बल्कि यह भी कि आपके User आपकी वेबसाइट पर भरोसा करेंगे.

एसएसएल प्रमाणपत्र के बिना किसी वेबसाइट पर भरोसा करना वास्तव में कठिन है, खासकर जहां आप गोपनीय जानकारी दर्ज करने जा रहे हैं. इसलिए यदि आपके पास एक बड़ी वेबसाइट है, जहाँ उपयोगकर्ता जानकारी का लगातार आदान-प्रदान किया जाता है, तो मैं आपको SSL का उपयोग करने की दृढ़ता से सलाह दूंगा, और यह विश्वास रखूंगा कि आपके User आपकी साइट को पसंद करेंगे.

एसएसएल / टीएलएस के प्रकार

प्रत्येक वेबसाइट के एसएसएल सुरक्षा आवश्यकताओं के अनुसार नीचे एसएसएल के प्रकार विभेदित हैं.

1. Domain Valid SSL (DV एसएसएल)

यह बढ़ते व्यवसायों के लिए सबसे अच्छी SSL है, जो सस्ती कीमत पर उपलब्ध है. इस DV एसएसएल प्रमाणपत्र के लिए केवल डोमेन स्वामित्व यानी DNS या ईमेल सत्यापन की आवश्यकता होती है .

DV SSL केवल जानकारी दिखाएगा कि आपकी वेबसाइट एक सुरक्षित और एन्क्रिप्टेड वेबसाइट है. इसलिए, ई-कॉमर्स के लिए एसएसएल के इस लेवल का उपयोग करने की अनुशंसा नहीं की गई है.

DV SSL टेस्टिंग वेबसाइटों या आपकी आंतरिक व्यावसायिक वेबसाइट पर उपयोग के लिए उपयुक्त है. यदि आप इस प्रमाणपत्र का उपयोग करते हैं, तो HTTPS और हरे रंग के Lock यह संकेत दिखाया जायेगा कि डोमेन Safe है.

2. Organization valid SSL (OV SSL)

यह SSL वास्तव में DV SSL के समान है. लेकीन इसके लिए डोमेन के ऑनर को को डोमेन का स्वामित्व और वैधता का प्रमाण दिखाकर सत्यापित करना होता है  इसका मतलब है कि एक सर्टिफिकेट जारी करने वाले या सीए (सर्टिफिकेट अथॉरिटी) यह सुनिश्चित करेंगे कि डोमेन को व्यवसाय के नाम, स्थान और अन्य कानूनी जानकारी के साथ पंजीकृत किया गया है.

OV SSL आमतौर पर कंपनी की वेबसाइटों पर उपयोग किया जाता है ताकि यह विजीटर्स के लिए अधिक सुरक्षित और विश्वसनीय दिखाई दे. यदि आप इस प्रमाणपत्र का उपयोग करते हैं, तो आपके वेबसाइट पर हरे Lock के साथ HTTPS दिखाई देगा.

3. Extended Valid SSL (EV SSL)

ईवी एसएसएल में उच्च स्तर की सुरक्षा होती है और यह आपके ऑनलाइन व्यापार, खासकर ई-कॉमर्स वेबसाइटों के लिए है. EV SSL को कुछ कानूनी दस्तावेजों के साथ डोमेन के स्वामित्व को सत्यापित करने के लिए डोमेन मालिकों की आवश्यकता होती है.

इसका कारण यह है कि एसएसएल का उपयोग आमतौर पर उन लोगों के लिए किया जाता है, जिनके पास स्टेट डिपार्टमेंट जैसी व्यापारिक संस्थाएं होती है.

SSL / TLS कैसे चुनें?

आज मार्केट में दो तरह के SSL है, प्रीमियम SSL और मुफ्त एसएसएल. आप में से जो सस्ते एसएसएल का उपयोग करना चाहते हैं और बिना किसी खर्च के प्रयोग करना चाहते हैं, तो आप क्लाउडफ्लेयर के मुफ्त एसएसएल ले सकते हैं. लेकिन अगर आप मुफ्त संस्करण चुनते हैं, तो आपको क्लाउडफ़ेयर की प्रीमियम सुविधाएँ नहीं मिलेंगी. इसके बाद आपका ब्लॉग या वेबसाइट अगर ग्रो करता है तो, आप DV SSL के लिए प्रीमियम एसएसएल चुन सकते हैं.

यदि आपके पास अपने व्यवसाय या संगठन के लिए एक वेबसाइट है, तो आप ओवी एसएसएल ले सकते हैं. अंतिम एक EV SSL है. आप में से जो ऑनलाइन व्यापार या ई-कॉमर्स चलाते हैं, उनके लिए इस प्रकार का एसएसएल सबसे अच्छा विकल्प है क्योंकि इसमें हाई लेवल की सिक्योरिटी दी जाती है.

सिक्योर सॉकेट लेयर के लाभ क्या हैं?

SSL के कई लाभ हैं जिसके बारे में निचे बताया गया है.

1. यह वेबसाइट को सुरक्षित रखता है

SSL का मुख्य लाभ निश्चित रूप से आपकी वेबसाइट की सुरक्षा है. SSL आपकी वेबसाइट को दूसरों द्वारा हैक किया जाना मुश्किल बना देगा. इसके अलावा, SSL वेबसाइट पर महत्वपूर्ण डेटा की सुरक्षा भी करेगा.

2. यह डेटा को एन्क्रिप्ट करता है

मूल रूप से एसएसएल एक वेबसाइट और वेब ब्राउज़र के बीच एक प्रोटोकॉल या पथ है. SSL संवेदनशील डेटा को एन्क्रिप्ट कर देता है जिसे कोई भी पढ़ नहीं पाएगा. क्योंकी यह डाटा को कोड फॉर्मेट में बदल देता है जिसे पढ़ना बहुत मुश्किल है.

3. यह वेबसाइट की प्रतिष्ठा को बढ़ाता है

जब वेबसाइट पर एसएसएल इंस्टॉल हो जाता है, तो ब्राउज़र में यूआरएल में Lock के साथ हरे रंग का HTTPS दिखाई देता है. यह विजीटर्स की नज़रों में आपकी प्रतिष्ठा और विश्वास बढ़ाने के लिए उपयोगी है. इससे वेबसाइट के विजीटर्स वेबसाइट तक पहुंचने में संकोच नहीं करेंगे. एक ऑनलाइन स्टोर वेबसाइट के मामले में, संभावित खरीदार भी आपकी वेबसाइट पर खरीदारी करने में संकोच नहीं करेंगे.

4. सर्च इंजन में वेबसाइट रैंकिंग को बढ़ाता है

Google का एल्गोरिथ्म उन वेबसाइटों को पसंद करता है जिनके पास SSL / TLS प्रमाणपत्र हैं. Google यहां तक ​​कि अपने यूजर्स को उन वेबसाइटों पर जाने से रोकता है, जिनके पास एसएसएल / टीएलएस प्रमाणपत्र नहीं है.

तो यह कोई नई बात नहीं है कि एसएसएल / टीएलएस भी खोज इंजन में वेबसाइट रैंकिंग से संबंधित है. एक शोध से पता चलता है कि एसएसएल / टीएलएस प्रमाणपत्र वाले अधिकांश वेबसाइटों की खोज इंजन में अच्छी रैंकिंग रहती है.

SSL का फ़ुल फ़ॉर्म क्या है?

SSL का फ़ुल फ़ॉर्म होता है Secure Sockets Layer.

SSL सर्टिफ़िकेट क्या होता है?

SSL सर्टिफ़िकेट एक डेटा फ़ाइल होती है जिसे कि वेबसाइट के ओरिजिन सर्वर में होस्ट किया गया होता है. ये SSL सर्टिफ़िकट्स ही हैं जो कि SSL/TLS एंक्रिप्शन को मुमकिन करते हैं. इसके साथ वो वेबसाइट की पब्लिक key और आयडेंटिटी को अपने पास धारण किए होते हैं कुछ ज़रूरी जानकारी के साथ.

क्या SSL सर्टिफ़िकेट Free होते हैं?

कुछ SSL सर्टिफ़िकेट फ़्री होते हैं तो कुछ पैड भी होते हैं. कुछ SSL सर्टिफ़िकेट फ़्री इसलिए होते है क्यूँकि उन्हें इशू किया गया होता है Non Profit Certificate Authorities के द्वारा. Let’s Encrypt एक बहुत ही पोपुलर Non Profit Certificate Authority है जो कि फ़्री में SSL/TLS सर्टिफ़िकेट प्रदान करता है.

क्या होगा यदि हम SSL सर्टिफ़िकेट का इस्तमाल ना करें?

यदि आप किसी भी प्रकार का SSL सर्टिफ़िकेट का इस्तमाल नहीं करेंगे तब आपका website ठीक वैसे ही काम करेगा जैसे वो पहले करता था. लेकिन वो अब ज़्यादा secure नहीं रहेगा जिससे कि ये ज़्यादा वल्नरबल बन जाएगा hackers के लिए.

क्या गूगल SSL सर्टिफ़िकेट वाले वेबसाइट को महत्व देता है?

जी हाँ गूगल SSL सर्टिफ़िकेट वाले website को बहुत ज़्यादा महत्व देता है. इन website को वो अपने SERP में ऊपर रखता है.

अंतिम शब्द

तो ये थी जानकारी SSL क्या है और कैसे काम करता है की बारे में. एक ब्लॉगर होने के नाते आपको इन सभी बेसिक ब्लॉगिंग सम्बंधित जानकारी के बारे में ज़रूर से मालूम होना चाहिए. वहीं ये कैसे असल में काम करता है उस विषय में भी ज़रूर से जानना चाहिए.

SSL का इस्तमाल आपको ज़रूर से आपके हिंदी ब्लॉग या कोई दूसरी भाषा के ब्लॉग में करना चाहिए. और वो क्यूँ करना चाहिए उसकी जानकारी मैंने ऊपर पोस्ट में बतायी हुई है. यदि आपने ध्यान नहीं दिया तब आप बहुत ही बड़ी चीज़ छोड़ के जा रहे हैं.

अगर आपको मेरी यह आर्टिकल SSL Certificate क्या होता है पसंद आई और आपको कुछ नयी जानकारी पढने को मिली हो तब आप इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते है. अगर आपका कुछ सुझाव है तो निचे कमेंट करिए और मेरे साथ YouTube और Instagram पे जुड़िये.

Chandan is a proud geek and professional blogger for the last 10 years. He is one of the best Hindi bloggers of Indian who teaches Digital Marking through blogs and YouTube videos.

Leave a Comment